Shri Trimbakeshwar

Pandit Sunil Guruji - 07887888747

Trimbakeshwar Puja

शंखचूड़ काल सर्प दोष

शंखचूड़ काल सर्प दोष: संस्कृत में ‘काल’ का अर्थ है समय और सर्प का अर्थ है “नाग”। वैदिक ज्योतिष में राहु और केतु दोनों को “छाया ग्रह” माना जाता है। काल सर्प दोष या काल सर्प योग के रूप में जाना जाने वाला ग्रह विन्यास तब होता है जब राशि चक्र के सभी सात प्रमुख […]

Shankachood Kaal Sarp Dosh

Shankachood Kaal Sarp Dosh : In Sanskrit ‘Kaal’ signifies time and Sarpa means “Snake”. Both Rahu and Ketu are believed to be “shadow planets” in Vedic astrology. The planetary configuration known as Kaal Sarp Dosh or Kaal Sarp Yog occurs when all seven of the zodiac’s major planets—the Moon, Sun, Mercury, Venus, Jupiter, Mars, and […]

कर्कोटक काल सर्प दोष

जब सभी सात ग्रह राहु और केतु अक्ष के दोनों ओर स्थित होते हैं। तो कर्कोटक काल सर्प दोष का निर्माण होता है। काल का अर्थ है समय और सर्प का अर्थ है साँप। संभावना है कि केतु को डार्क टाइम स्नेक से संदर्भित किया जा रहा है। दूसरी ओर, यह भी बताया गया है […]

Karkotak Kaal Sarp Dosh

When all seven planets are situated on each side of the Rahu and Ketu axis, the Karkotak Kaal Sarp Dosh configuration is formed. Kaal signifies time and Sarpa means snake. It is likely that Ketu is being refer to by the dark time snake. On the other hand, it’s been report that the effects of […]

तक्षक काल सर्प दोष

तक्षक काल सर्प दोष एक अभिशाप है जो किसी व्यक्ति के जीवन में पूर्व जन्म में किए गए नकारात्मक कार्यों के परिणामस्वरूप आता है। ये कार्य अंततः व्यक्ति को इस जीवन में कठिनाइयों का कारण बनते हैं। क्योंकि यह दोष किसी व्यक्ति के जीवन में मौजूद होता है, व्यक्ति की भावनात्मक स्थिति में सुधार नहीं […]

Takshak Kaal Sarp Dosh

Takshak Kaal Sarp Dosh is a curse that comes into a person’s life as a result of the negative actions they carried out in a former life. These actions are what ultimately lead to the individual’s difficulties in this life. Because this dosha is present in a person’s life, the person’s emotional state does not […]

महापदम काल सर्प दोष

महापदम काल सर्प दोष तब होता है जब राहु छठे घर में मौजूद होता है जो ऋण, स्वास्थ्य और शत्रु का घर है। और केतु बारहवें घर में स्थित है जो आध्यात्मिकता, खर्च और विदेश यात्रा का घर है। अन्य सात ग्रह छठे और बारहवें भाव के बीच में ही घेरे रहते हैं। मदपदम ऋषि […]

Mahapadam Kaal Sarp Dosh

Mahapadam Kaal Sarp Dosh occurs when Rahu is present in the sixth house which is the house of debt, health and enemy. And ketu is placed in the twelfth house which is the house of spirituality, expenses and overseas travels. The other seven planets encircle in between the sixth and twelfth house only. Madapadam is […]

पदम काल सर्प दोष

कुंडली में बनी विशेष कठिनाई यह दर्शाता है कि राहु और केतु की स्थिति ठीक नहीं है। कुंडली के पांचवें घर पर राहु शासन करता है। इसके अतिरिक्त इसी समय कुंडली के 11वें भाव में केतु स्थित है। इसे पदम काल सर्प दोष कहा जाता है। फिर, किसी समय, ऐसे व्यक्ति को इस सटीक परीक्षा […]

Scroll to top